Wednesday, September 25, 2013

हिमांचली चरवाहों का एक गीत


हिमांचल प्रदेश के चंबा जिले के मंगला गाँव के रहने वाले भाइयों राजिंदर सिंह और सरनू राम की रगों में पिछली कई पीढ़ियों के संगीत की परम्परा बहती है.

आज आपको इनका एक बेहतरीन गीत सुनवा रहा हूँ – “हाये मेरी नीलिमा”





इनके गायन में परिवार के ही चार-पांच स्त्री पुरुष भाग लेते हैं. महिलाएं मजीरा बजाती हैं जबकि पुरुष ‘रिवाना’ और ‘कांसी’ नाम के दो वाद्ययंत्र. ये कमाल के वाद्ययंत्र तेज़ी से दुर्लभ होते जा रहे हैं. फ़िलहाल राजिंदर सिंह एंड पार्टी से सुनिए हिमांचली चरवाहों का एक गीत - 

2 comments:

प्रवीण पाण्डेय said...

अभी जाकर सुनते हैं।

RSTV said...

bahut achchaa gaana hai bhai.