Monday, January 25, 2016

उम्मीद भी क्या की जा सकती है चौबे जी से - सनी लियोनी का इंटरव्यू

अपने पति डेनियल वेबर के साथ सनी लियोन

सनी लियोनी उर्फ़ करनजीत कौर के जिस साक्षात्कार पर कल मैंने सुन्दर चन्द ठाकुर का लेख पोस्ट किया था उसे लेकर कई पाठक-मित्रों ने अपनी अनभिज्ञता ज़ाहिर की है. स्पष्टतः उनमें यूट्यूब या किसी अन्य ऐसी ही वेबसाईट में जाकर उसे देखने का धैर्य नहीं रहा होगा. उनकी सुविधा के लिए इसे मैं यहाँ इस ब्लॉग में रेकॉर्ड के लिए दर्ज किये दे रहा हूँ. पूरा इंटरव्यू देखें ताकि सनद रहे. एक वेबसाईट ने इस इंटरव्यू की बाबत जब सनी से सवाल किये तो देखिये उसने क्या कहा -

प्रश्न: यह देखते हुए कि सीएनएन आईबीएन वाले इंटरव्यू को देखना भी इस कदर डिस्टर्बिंग था, हमें यकीन है कि उसे करते समय आप ने भी बहुत असुविधा महसूस की होगी. क्या आपने अपने इंटरव्यूअर को साक्षात्कार के दौरान किसी वक़्त इस बात का अहसास दिलाया?

सनी का उत्तर: मैं उन लोगों में नहीं हूँ जो इंटरव्यू से उठकर चले जाते हैं. लेकिन बात यह है कि मुझे तभी अहसास हो रहा था कि जो कुछ हो रहा है सही नहीं हो रहा. और मुझे बेहद अकेलापन महसूस हुआ ...  और कोई भी मेरी मदद नहीं कर रहा था. मैं खिन्न थी क्योंकि मुझे नहीं मालूम था मुझे उस सब का सामना करना पड़ेगा.

लेकिन मैं कभी भी पीछे नहीं हटूंगी. मैं किसी को भी - चाहे वह आदमी हो चाहे औरत - किसी को भी अपना अपमान नहीं करने दूंगी. मेरी इसी स्पिरिट ने मुझे इंटरव्यू चलते रहने देने में मदद की. और अगर मैं इंटरव्यू छोड़कर चली  आई होती तो मुझे लेकर उसने (इंटरव्यूअर ने) जो भी संशय उठाये थे, मैं उन्हें सच साबित कर देती. मैं उन सब बातों को सच साबित कर देती जो उसने मेरे और मेरी बीती ज़िन्दगी के बारे में की थीं. मैं हरगिज़ उसे वैसा करने नहीं दे सकती थी. 

(यह पूरा इंटरव्यू अंग्रेज़ी में इस लिंक पर देखा जा सकता है - I felt alone and upset)

1 comment:

anil yadav said...

भौत नेक काम किया. सलूट