Thursday, July 12, 2012

रुस्तम-ए-हिंद को श्रद्धांजलि


रुस्तम-ए-हिंद दारा सिंह नहीं रहे. कबाड़खाने की विनम्र श्रद्धांजलि.

उन पर एक अच्छा लेख वेबदुनिया में छपा है. यह रह उसका लिंक - दारा सिंह : रुस्तम-ए-हिंद

2 comments:

expression said...

श्रद्धा सुमन.

सादर
अनु

smshindi By Sonu said...

विनम्र श्रद्धांजलि.