Thursday, June 13, 2013

अफ्रीकी संगीत - मिरियम माकेबा का "पाता पाता"



४ मार्च १९३२ को जन्मीं दक्षिण अफ्रीकी गायिका मिरियम माकेबा को मामा अफ्रीका के नाम से जाना जाता था. प्रतिबद्ध मानवाधिकार कार्यकर्त्री मिरियम ने संगीत के लिए प्रतिष्ठित ग्रैमी अवार्ड जीता था.

१९६० की दहाई में विश्व भर में अफ्रीकी संगीत को लोकप्रियता हासिल कराने वालों में मिरियम का नाम अगली जमात में शामिल है. १९५७ में रिकॉर्ड किया गया उनका गीत “पाता पाता” बहुत प्रसिद्ध हुआ अपने समय के बड़े गायकों पाल साइमन और हैरी बेलाफोंते के साथ उन्होंने कई गीत गए.

दक्षिण अफ्रीका सरकार की रंगभेदी नीतियों का मुखर विरोध करने के कारण उन्हें देशनिकाला दे दिया गया जहां वे १९९० में ही वापस लौट सकीं.

९ नवम्बर २००८ को विद्रोही इतालवी लेखक रोबेर्तो सावियानो की सहायता के लिए आयोजित एक कंसर्ट में गाने के बाद उन्हें दिल का दौरा पड़ा जिससे उनकी मृत्यु हो गयी.

इस महान गायिका का सर्वप्रसिद्ध गीत “पाता पाता” सुनिए. गीत उनकी सह-कलाकार डोरोथी मासूका ने लिखा था. १९६७ में अमेरिका में रिलीज़ हुआ अफ्रीकी बोली ज़ोसा (Xhosa) में रचा गया यह गीत उस साल हित गीतों की सूची में १२वें स्थान पर पहुंचा था. गीत के शीर्षक का अर्थ हुआ “छुओ छुओ”-



1 comment:

Neeraj Basliyal said...

ज़ोसा (Xhosa) : its pronounced as Khosa (खोसा)...