Tuesday, October 21, 2014

जमुना तट राम खेलें होरी – दुर्लभ कबाड़


इलाहाबाद की रहनेवाली जानकी बाई ब्रितानी हिन्दुस्तान की सबसे अग्रणी गायिकाओं में गिनी जाती थीं. ठुमरियों की ग्रामोफोन रेकॉर्डिंग के लिए वे ख़ासी मशहूर थीं. डी. एम. न्यूमैन के अनुसार उन्हें अपनी रेकॉर्डिंग के लिए एक दफ़ा ३०,०० रूपये मिले थे. उस ज़माने के हिसाब से यह बहुत बड़ी रकम थी. ब्रिटेन के राजा हैनरी पंचम के राज्याभिषेक के अवसर पर उन्होंने और गौहर जान ने अपना गायन प्रस्तुत किया था.


उन्हीं के स्वर में एक बेहद पुरानी होली प्रस्तुत है. इसका लिंक मुझे मेरे संगीतकार मित्र, नैनीताल में रहनेवाले रवि जोशी ने उपलब्ध कराया. उनका आभार.  

1 comment: