Saturday, May 30, 2009

एक सितारा यह भी

इससे पहले कि सौन्दर्य बन जाए स्वाद
आओ तुम्हें दिल में कर लें आबाद !

10 comments:

मुनीश ( munish ) said...

Looks like a lovely 'tori'flower! Lauki, tori and even tinda are fast coming up. I witness long Qs of morning walkers these days and all vying with each other to get another cup of lauki juice . However only a 'satvik' person can appreciate tori ka saag!Nice kitchen garden anyway!

Asha Joglekar said...

ये कौन फूल है भाई जिसेपकाया भी जाता है ?

मुनीश ( munish ) said...

plus it has a stark resemblance to a star fish! seems u love fishing in troubled waters ,no? otherwise, few people dare publish such pics here ! i really enjoyed it!

siddheshwar singh said...

मुनीश जी एवं आशा जी,

यह अपना नन्हा सितारा तोरी, तुरई,नेनुआ, घिया, टिंडा, लौकी का नहीं बल्कि कुम्हड़ा , कद्दू , पंपकिन या सीताफल का है जिसे (मेरी जानकारी में) भारतीय सब्जियों की अघोषित हायरारकी में काफी निचला पायदान नसीब होता देखा जाता है. कद्दू की सब्जी बनने पर मैंने लोगों को प्राय: कहते सुना है - 'खाओ तो कद्दू से , ना खाओ तो कद्दू से. कद्दू के फूल से आकार लेते नन्हें फल को देखकर मानस की बहुउधृत अर्धाली - 'इहाँ कु्म्हड़ बतिया कोउ नाहीं , जे तर्जनी देख डर जाहीं' कहने का भी रिवाज है. कदू को लेकर प्रचलित मुहावरे और कहावतें भी तो कई हैं.फल के अतिरिक्त इसके फूल और कोमल पत्तियों -डंठलो की भाजी और भजिया या पकौड़ी भी बनती है.

खैर..यह चित्र मित्रों को भाया सो इस कबाडी का मन हर्षाया ! शुक्रिया !!

batkahi said...

sidhdheshwar bhai,aapki is anokhi chitra kavita ka saara maja kirkira ho gaya aapki adhyapakiya safai se....is rahasya ko thoda aur gehrane dete to khub maja ata...ashokji,aisi kaviaton ka jawab nahi jo ni-shabd par gehri hoti hain...aap aise hi paheliyan bujhate rahiye

मुनीश ( munish ) said...

by weilding your magic wand , you turned a proverbial Pumpkin in Cindrella!

Ek ziddi dhun said...

ये संयोग है कि मैं और मेरी दोस्त सुम्मी एक प्लाट में इन फूलों को कुछ देर पहले देखकर खुश हो रहे थे. यहाँ ब्लॉग पर भी इसे पाकर हम दोनों को अच्छा लग रहा है

Ek ziddi dhun said...

अशोक भाई/सिद्धेश्वर जी. ये फूल इत्ता खूबसूरत कि पिछले कुछ दिनों से नहीं पढ़ी गईं पोस्ट पढना भी दो दिन और स्थगित.

मुनीश ( munish ) said...

Tori,Ghiya and Kaddu belong to same stock of vegetables ,like leopard, tiger and jaguar come from the same stock of CATS.So don't think im way off the mark . I love pumpkins!!

G M Rajesh said...

sasural sabji phool

likhnaa chaahiye tha filmi geet me